Haryana

कोरोना वैक्सीन लगवाने से कतरा रहे हरियाणा के अध्यापक

September 10, 2021 10:09 AM



चंडीगढ़, 09 सितम्बर। हरियाणा सरकार द्वारा भले ही चौथी से 12वीं तक के स्कूल खोल दिए गए हैं लेकिन इन स्कूलों में आने वाले बच्चे सुरक्षित नहीं हैं। स्वास्थ्य तथा शिक्षा विभाग द्वारा बार-बार चेताए जाने के बावजूद अध्यापकों का कोरोना वैक्सीन लेने में कोई रूझान नहीं है। हालात यह हैं कि प्रदेश में एक लाख से अधिक अध्यापकों में से केवल 31 हजार ही ऐसे हैं जिन्होंने अभी तक कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली है। अब शिक्षा निदेशालय ने प्रदेश के सभी अध्यापकों को 15 सितंबर तक के लिए चेतावनी दी है।
हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल माह में स्कूल बंद किए गए थे। जिन्हें चरणबद्ध तरीके से जुलाई माह में दोबारा खोलना शुरू किया गया है। वर्तमान प्रदेश के सभी स्कूलों में चौथी से 12वीं तक के स्कूल खुले हैं और पहली से तीसरी कक्षा तक के स्कूल खोलने को लेकर लगातार मंथन चल रहा है।
सरकार ने इस शर्त पर स्कूल खोले थे कि इन स्कूलों में आने वाले अध्यापकों को कोरोना वैक्सीन की दोनो डोज लगी होनी चाहिए। प्रदेश में स्कूल खुले करीब एक माह होने को है और अभी तक अध्यापकों का शतप्रतिशत वैक्सीनेशन नहीं हुआ है। जिसका खामियाजा बच्चों को भुगतना पड़ सकता है। शिक्षा विभाग द्वारा सभी जिलों से मंगवाई गई रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में इस समय कुल 14 हजार 157 स्कूल हैं। जिनमें एक लाख तीन हजार 925 अध्यापक तथा अन्य स्टाफ है। बार-बार चेताने के बावजूद अभी तक 36 हजार 232 अध्यापकों ने कोरोना वैक्सीन की पहली तथा 31 हजार 365 अध्यापकों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई है। प्रदेश में करनाल जिला ऐसा है जहां पहली व दूसरी डोज लेने वाले अध्यापकों का आंकड़ा 91 प्रतिशत तक पहुंच गया है। 
रोहतक में सबसे कम 45 फीसदी अध्यापकों ने ही कोरोना वैक्सीन की पहली व दूसरी डोज ली है। स्वास्थ्य विभाग की सिफारिश पर शिक्षा विभाग द्वारा जिला शिक्षा अधिकारियों को एक निर्देश जारी करके कहा गया है कि 15 सिंतबर तक अध्यापकों की कोरोना वैक्सीनेशन की पहली अथवा दूसरी डोज पूरी की जाए। निदेशालय ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को 15 सितंबर के बाद स्टेटस रिपोर्ट मुख्यालय को भेजने के निर्देश दिए हैं। इस रिपोर्ट के बाद अध्यापकों के खिलाफ आदेशों की अवहेलना के आरोप में विभागीय कार्रवाई हो सकती है।
 
Have something to say? Post your comment