Punjab

मुख्यमंत्री द्वारा अनुसूचित जातियों के कल्याण के लिए कई प्रोग्रामों समेत ग्रामीण सम्पर्क सडक़ों के लिए 1200 करोड़ रुपए के प्रोजैक्टों का ऐलान

August 15, 2021 05:56 PM


अमृतसर, 15 अगस्त:
देश के 75वें ऐतिहासिक स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज यहाँ अनुसूचित जातियों के कल्याण के लिए विभिन्न प्रोग्रामों समेत लिंक सडक़ें, फिरनियों और अन्य सडक़ों के विकास के लिए 1200 करोड़ रुपए के प्रोजैक्टों का ऐलान किया है।
मुख्यमंत्री ने आगे ऐलान किया कि जल्द ही एक एक्ट नोटीफायी किया जाएगा जिसके अंतर्गत राज्य की अनुसूचित जाति आबादी की प्रतिशतता के बराबर दलित कल्याण के लिए बजट से ख़र्च करना अनिवार्य होगा और 85वीं संवैधानिक संशोधन को सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसलों के अनुसार लागू किया जाएगा।
कारोबार करने को आसान बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम (एमएसएमईज़) उद्योगों के लिए 1150 व्यापक सुधारों का ऐलान भी किया। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्धी विवरण निवेश प्रोत्साहन विभाग द्वारा अलग तौर पर साझे किए जाएंगे।
उन्होंने यह भी ऐलान किया कि कुछ महंगे चिकित्सीय इलाज और डायलिसिस, एक्स-रे आदि जैसे टैस्ट सरकारी अस्पतालों में मुफ़्त किए जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही एक व्यापक स्वास्थ्य बीमा शुरू किया जाएगा।
मुख्यमंत्री द्वारा किए गए कई अन्य महत्वपूर्ण घोषणाओं में पिछले 10 सालों से काम कर रहे सभी सफ़ाई कर्मचारियों को रेगुलर करना और आंगनवाड़ी वर्करों, मिनी आंगनवाड़ी वर्करों और हैल्परों के मासिक मानदेय में क्रमश: 600, 500 और 300 रुपए की वृद्धि करना शामिल है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण/शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की ज़रूरतों के अनुसार बुनियादी ढांचे के विकास के लिए पंजाब निर्माण प्रोग्राम के अंतर्गत 1170 करोड़ रुपए ख़र्च किए जाएंगे।
भूमिहीन किसानों के कल्याण का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार आने वाली 20 अगस्त को मरहूम पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर ऋण राहत स्कीम के अधीन 2.85 लाख भूमिहीन किसानों को 520 करोड़ रुपए की अदायगी करेगी। इसके अलावा एस.सी. और बी.सी. कॉर्पोरेशन के लगभग 16,000 लाभार्थियों को जल्द ही 62 करोड़ रुपए की लागत के साथ 50,000 रुपए तक का ऋण माफ किया जाएगा।
इस अवसर पर अन्यों के अलावा सांसद गुरजीत सिंह औजला और विधायक डॉ. राज कुमार वेरका, सुनील दत्ती, हरप्रताप सिंह अजनाला, तरसेम सिंह डीसी, सुखविन्दर सिंह डैनी, संतोख सिंह भलीपीर और बलविन्दर सिंह लाडी, अमृतसर नगर निगम के मेयर करमजीत सिंह रिंटू, मुख्यमंत्री के वरिष्ठ सलाहकार लैफ्टिनैंट जनरल टी.एस. शेरगिल (सेवामुक्त), मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्य सचिव विनी महाजन, डीजीपी दिनकर गुप्ता, डिविजऩल कमिश्नर वरुण रूजम, डिप्टी कमिश्नर अमृतसर गुरप्रीत सिंह खैहरा, कमिश्नर पुलिस अमृतसर डॉ. सुखचैन सिंह गिल और कमिश्नर एम.सी. अमृतसर मालविन्दर सिंह जग्गी उपस्थित थे।

 
Have something to say? Post your comment