Tuesday, May 21, 2024
Follow us on
BREAKING NEWS
फिट इंडिया मार्शल आर्ट्स स्कूल गेम्स नेशनल चैंपियनशिप और अवॉर्ड समारोह का रोहतक में हुआ भव्य आयोजन आज होगा फिट इंडिया मार्शल आर्ट्स स्कूल गेम्स नेशनल चैंपियनशिप और अवॉर्ड समारोह का रोहतक में भव्य आयोजन फतेहगढ़ के बॉक्सिंग खिलाड़ी सूरज रोहिल्ला बने ब्रिक्स फिटनेस एंड डांस एकेडमी के ब्रांड एंबेसडरदिशा वूमैन वैलफेयर ट्रस्ट मानसा में करेगी महिला पंचायतउद्योगों के लिए लाभदायक है सौलर सिस्टम:बलदेव सिंह सरांभिवानी: ऑल नर्सिंग ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसिएशन हरियाणा की हुई अहम बैठकविमल कालिया के कविता संग्रह निंबोलियां का विमोचनपीएचडीसीसीआई शी-फोरम ने किया गोष्ठी का आयोजन
 
 
 
National

अनाथ बेटियों को पढ़ाने के बाद उनके हाथ पीले करा रहे दाती जी महाराज

April 22, 2024 06:49 PM

चंडीगढ़ | राष्ट्रीय संत सेवा एवं गोरक्षा कल्याण परिषद के अध्यक्ष महामंडलेश्वर दाती जी महाराज ने सोमवार को अपनी दो धर्मपुत्रियों के हाथ पीले कराए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ मुहिम को गति देते हुए दाती महाराज निर्धन, बेसहारा और अनाथ बेटियों की पढ़ाई से लेकर उनके रहन-सहन, खानपान और शादियों का बंदोबस्त स्वयं करते हैं। श्री शनिधाम ट्रस्ट की देखरेख में यह कार्य किया जाता है।

महामंडलेश्वर परमहंस दाती जी महाराज अब तक करीब 10 हजार बेटियों की पढ़ाई से लेकर उनके विवाह तक का पूरा इंतजाम स्वयं कर चुके हैं। राजस्थान के पाली जिले के सोजत का निकटवर्ती गांव आलावास अब बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाो अभियान का बड़ा संदेशवाहक बन चुका है। इस गांव में शनिधाम ट्रस्ट के गुरुकुल में रहने वाली 800 बेटियों के लिए दाती महाराज पिता की तरह उनका भविष्य संवार रहे हैं। यहां अधिकतर बेटियां आदिवासी क्षेत्र की हैं, जिन्हें अब बेहतर शिक्षा मिल रही है। वर्ष 1999 में आलावास में मात्र तीन अनाथ बेटियों को गोद लेकर गुरुकुल का संचालन दो कमरों में शुरू किया गया था। गुरुकुल में रहने वाले बच्चों को आधुनिक सुविधाएं मुहैया हैं। उन्हें किसी तरह की कोई कमी नहीं हो, इसके लिए दाती महाराज हर महीने खुद यहां आकर उनकी संभाल करते हैं।

श्री शनिधाम ट्रस्ट फतेहपुर असोला के मीडिया सलाहकार अशोक कुमार ने बताया कि दाती जी ने बेटियों को अपना करियर खुद चुनने की आजादी दे रखी है। उनकी अनुपस्थिति में बेटियों के लिए किसी भी तरह की कोई कमी न हो, इसके लिए 15 बेटियों पर एक मां को नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि 11 साल पहले हुए एक हादसे में अपनी जान गंवाने वाले माता पिता के  परिवार में छह भाई बहन हैं।

 इन सभी को गुरुकुल आलावास में रहकर शिक्षा दीक्षा दिलाई गई, जिसमें से दो बेटिय़ों के हाथ पीले किए गए हैं। कार्यक्रम में पूर्व कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण दवे, समाजसेवी केवल चंद मांडोत, समाजसेवी अमरंजय कुमार, चेनराज सोजत, मोहन लाल टांक, जब्बर सिंह राजपुरोहित, मदन सिंह इंदा, मुरली गहलोत इस विवाह के साक्षी बने। संतो ने भी वर-वधू को आशीर्वाद दिया, जिनमें निरंजनी अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी हरिओम गिरि महाराज, श्रीमहंत दयालपुरी महाराज, श्रीमहंत भोलागिरि महाराज, श्रीमहंत कन्हैया गिरि महाराज, श्रीमहंत श्रद्धा पुरी महाराज, श्रीमहंत दयापुरी महाराज शामिल रहे।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
तृतीय वाल्मीकि समाज सामूहिक विवाह सम्मेलन हुआ संपन्न
कांग्रेस के घोषणा पत्र में विदेशी ताकतों की छाप: अनुराग ठाकुर
बौद्धिक संपदा अधिकारों पर पीएचडीसीसीआई की दो दिवसीय आईपी यात्रा संपन्न
देश के लिए प्रगतीशील है केंद्र का बजट:सचदेवा
अनुराग ठाकुर की पहल “एक से श्रेष्ठ” के 500 वें सेण्टर का उपराष्ट्रपति ने किया शुभारंभ
इनेलो के आईएनडीआइए में शामिल होने का विरोध नहीं करेंगे हुड्डा
अयोध्या में रामलाला की मूर्ति स्थापना अवसर पर निहंग लगाएंगे लंगर
राजस्थान में किसान और कमेरा वर्ग  देगा कांग्रेस को चुनाव में करारा जवाब  : औमप्रकाश धनखड़
पंजाब में व्यापारियों के लिए जीएसटी से पहले के बकाए के लिए एकमुश्त निपटारा योजना लागू
अब सिख नहीं कर सकेंगे डेस्टिनेशन शादियां