Chandigarh

ईवी खरीदने वाले उपभोक्ताओं को दी 18.66 करोड़ सब्सिडी:नौटियाल

March 16, 2024 07:04 PM

चंडीगढ़। सिटी ब्यूटीफुल चंडीगढ़ में लोग तेजी से इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने में दिलचस्पी ले रहे हैं। सितंबर 2022 में ईवी पॉलिसी को लागू करने के बाद से लेकर अब तक चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा ईवी खरीदने पर लोगों को 18.66 करोड़ रुपये की सब्सिडी प्रदान की जा चुकी है।

पीएचडीसीसीआई ने ईवी एक्सपो में किया सेमिनार का आयोजन
शहर में 3700 लोगों ने घरों पर लगवाया रूफ टॉप सिस्टम


उक्त विचार साइंस एवं तकनौलजी विभाग के सचिव आईएफएस टी.सी. नौटियाल ने पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्ररी द्वारा आयोजित किए जा रहे ईवी एक्सपो के दूसरे दिन ईवी इंफ्रास्ट्रक्चर एंड ग्रीन हाईड्रोजन मोबिल्टी विषय पर आयोजित सेमिनार को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अब तक शहर में 3001 ईवी की खरीद पर यह सब्सिडी दी गई है। उन्होंने कहा कि शहर में ई-रिक्शा का चलन भी तेजी से बढ़ रहा है। इस समय 2800 से अधिक ई-रिक्शा शहर में चल रही हैं।
उन्होंने कहा कि यहर में जहां 886 सरकारी आवास, सरकारी  इमारतें कालेज व अस्पताल को सोलर में कनवर्ट किया जा चुका है वहीं अब तक 3700 से अधिक सामान्य नागरिकों ने अपने घरों में सोलर सिस्टम लगवाकर ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा दिया है।
नौटियाल ने कहा कि प्रशासन द्वारा इस तरह से योजनाओं को लागू किया जा रहा है कि वर्ष 2030 तक ग्रीन एवं क्लीन सिटी को सोलर सिटी में कनवर्ट कर दिया जाए।
इससे पहले आए हुए अतिथियों का स्वागत करते हुए पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की क्षेत्रीय निदेशक भारती सूद ने कहा कि इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य शहर वासियों को ईवी तथा ग्रीन एनर्जी के प्रति जागरूक करना है। उन्होंने कहा कि आज के कार्यक्रम में शहर वासियों के अलावा विभिन्न कालेजों के विद्यार्थियों ने भाग लिया।
इस अवसर पर पंजाब इंजीनियरिंग कालेज मेटलुरजीकल विभाग के प्रमुख डॉ.जेडी शर्मा ने कहा कि ईवी तथा सोलर उपकरण भविष्य के जीवन का प्रमुख हिस्सा बन रहे हैं। प्रदूषण को कम करने में यह अहम भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर पीएचडीसीसीआई रेन्यूवल एनर्जी कमेटी के संयोजक परव अरोड़ा, नारायणकुमार श्रीकुमार, ईश्विंदर मान, समेत कई गणमान्य मौजूद थे।

हिमाचल सरकार के बेड़े में शामिल होंगे इलेक्ट्रिक वाहन
पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा आयोजित सेमिनार में विशेष रूप से पहुंचे परिवहन विभाग हिमाचल के प्रधान सचिव आईएएस आर.डी.नज़ीम ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जहां एचआरटीसी के बेड़े में लगातार इलेक्ट्रिक बसों की संख्या में वृद्धि की जा रही है वहीं युवाओं को स्वरोजगार स्ट्राटप योजना के तहत ई-टैक्सी प्रदान की जा रही हैं। हिमाचल पर्यटन राज्य है। ऐसे में बाहर से आने वाली पर्यटकों की सुविधा के लिए चलने वाले वाहनों को ईवी में बदलने का प्रयास किया जा रहा है। इससे सैकड़ों युवाओं को लाभ मिल चुका है।

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
ईवी को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं युवा:सुखविंदर सिंह
सिटी ब्यूटीफुल में 31 मार्च तक शुरू होंगे 53 ईवी चार्जिंग स्टेशन
नए जनसांख्यिकीय लाभ के अवसर बढ़े:अरविंद विरमानी
महिलाओं को उद्योग जगत में नई पहचान देगा शी-फोरम
सिम्मी मरवाहा युवा पत्रकार सम्मान के लिए आवेदन आमंत्रित
पंजाब दे शेर ने सेलिब्रिटी क्रिकेट लीग के अंतर्गत लांच की अपनी टीम जर्सी
डेराबस्सी के भगवान परशुराम भवन में मूर्ति स्थापना दिवस मनाया
स्वास्थय जीवन शैली के लिए नियमित व्यायाम और संतुलित पोषण जरूरी:डॉ. वंदना
बीआईएस के 77वें स्थापना दिवस के दौरान सीएजी को सम्मान
एमएसएमई के वित्तीय सशक्तिकरण से मिलेगी उद्योगों को मजबूती:भारती सूद