Monday, February 26, 2024
Follow us on
 
 
 
Punjab

गुरू की नगरी में पहला शिल्प समागम आज से

January 11, 2024 07:08 PM

अमृतसर। भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, नेशनल शैडयूल कास्ट्स फाइनेंस एंड डेवलपमेंट कारपोरेशन, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम भारत सरकार, नेशनल सफाई कर्मचारी फाइनेंस एंड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन भारत सरकार के संयुक्त तत्वाधान में 12 जनवरी से गुरू की नगरी अमृतसर में पहला शिल्प समागम आयोजित किया जा रहा है।
आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार के महाप्रबंधक सुरेश कुमार शर्मा, वरिष्ठ प्रबंधक संजय कुमार शर्मा तथा प्रबंधक संजीव कुमार शर्मा ने बताया कि अमृतसर के रंजीत एवेन्यू ग्राउंड में चलने वाले शिल्प समागम का औचपारिक उदघाटन केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले 12 जनवरी की शाम चार बजे करेंगे।

केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास अठावले आज करेंगे उदघाटन
देशभर के 17 राज्यों के दो सौ से अधिक शिल्पकार लेंगे भाग


उन्होंने बताया कि देश के विभित्र शहरों में शिल्प समागम के सफल आयोजन के बाद अब पंजाब के धार्मिक, सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक शहर अमृतसर में 12 से 21 जनवरी तक यह आयोजन किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ,सबका विकास’ के मूल मंत्र पर आधारित इस मेले का उद्देश्य शीर्ष निगमों के 17 राज्यों से आए 200 अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्ग और सफाई कर्मचारी वर्ग के लाभार्थियों को अपने उत्पादों के प्रदर्शन के साथ-साथ बिक्री के लिए बड़ा मंच प्रदान करना है।
विभागीय अधिकारियों ने बताया कि मेले के माध्यम से समाज के लक्षित वर्ग को सशक्त और प्रदर्शनियों में भाग लेने वाले लाभार्थियों की अच्छी बिक्री होने से ऋण चुकाने के साथ-साथ स्वावलंबी बनने में मदद मिलेगी।
सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार वर्ष 2001 से अपने शीर्ष निगमों के माध्यम से ऋण सहायता प्राप्त अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग और सफाई कर्मचारियों के लाभार्थियों के लिए इस प्रकार की प्रदर्शिनियों का आयोजन कर विपणन मंच प्रदान कर रहा है।
उन्होंने बताया कि मेले के प्रमुख उत्पादों में हैंडलूम एवं हैंडीक्राफ्ट उत्पाद, धातुओं एवं लकडिय़ों पर नक्काशी के उत्पाद, खादी, पीतल के उत्पाद, जैविक उत्पाद, ड्रेस मैटेरियल, चमड़े के उत्पाद, बाग प्रिंट, जलकुम्भी उत्पाद, बांस एवं बेंत से बने उत्पाद, अचार, खाखरा, फुलकारी वर्क,चिकन वर्क के उत्पाद, राजस्थानी जूती, बनारसी साडिय़ां,रेडीमेड गारमेंट्स, कॉरपेट, ड्राई फ्रूट्स,कश्मीरी आर्ट वर्कस उत्पाद, क्राकरी, लकड़ी के खिलौने, मुलायम खिलौने, आर्टीफिशियल ज्वैलरी,कच्छ शिल्प आदि उत्पाद सम्मिलित हैं।

 
Have something to say? Post your comment
More Punjab News
भारत व कनाडा के बीच औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देना जरूरी
नई वंदे भारत एक्सप्रेस को जालंधर में स्टॉपेज दिलवाने के लिए रेल मंत्री से मिले सांसद सुशील रिंकू 
मुख्यमंत्री द्वारा किसानों के मसलों के 31 मार्च तक समाधान के लिए कमेटी का गठन
पंजाब के सभी चुनावों में मोर्चा निभाएगा अहम भूमिका- सागर रायका
उद्योगपति पंजाब में करेंगे उद्योगों का विस्तार, सरकार के करेगी मदद:भुल्लर
इस बार तीन लाख 35 हजार ने देखा पाईटैक्स, टूटा रिकार्ड
सिडबी ने पाईटैक्स में लगाया स्वाबलंबन मेला:मौर्य
अमृतसरियों ने पाईटैक्स की मस्ती के साथ मनाया संडे
पंजाब में लागू हो एक जिला एक उत्पाद योजना:सचदेवा
रक्तदान के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने की जरूरत:थोरी