Monday, February 26, 2024
Follow us on
 
 
 
Punjab

मुख्यमंत्री द्वारा किसानों के मसलों के 31 मार्च तक समाधान के लिए कमेटी का गठन

December 19, 2023 07:29 PM

चंडीगढ़|पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने काले कानूनों के विरुद्ध संघर्ष के दौरान शहादतें प्राप्त करने वाले किसानों के  वारिसों को मुआवज़े और नौकरियों सहित अन्य लम्बित मसलों के समाधान के लिए एक कमेटी का गठन कर दिया। यहाँ पंजाब भवन में अलग-अलग किसान जत्थेबंदियों के साथ मीटिंग की अध्यक्षता करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कमेटी का नेतृत्व कृषि मंत्री गुरमीत सिंह खुड्डियां करेंगे, जबकि सीनियर आई. ए. एस. अधिकारी और किसान जत्थेबंदियों के प्रतिनिधि और कृषि माहिर सदस्यों के तौर पर शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि किसानों की माँगें जल्दी से जल्दी पूरी करनी यकीनी बनाने के लिए यह कमेटी 31 मार्च 2024 तक अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप देगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के अन्नदाताओं की भलाई के लिए वचनबद्ध है और इसलिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी।

राज्य के पानी की हरेक बूँद बचाने की वचनबद्धता दोहराई
पंजाब भवन में किसान यूनियनों के साथ मीटिंग की अध्यक्षता की
ज़मीन का सहमति से बंटवारा करने के लिए विशेष मुहिम चलाने का आदेश
किसानों को लाभ पहुँचाने के लिए फसलों पर एम. एस. पी. की रक्षा करने का प्रण

 


एक अन्य एजंडे के बारे चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने पंजाब के पास अन्य राज्यों के लिए पानी की एक बूँद भी अतिरिक्त न होने की बात दोहराते हुये कहा कि वह 28 दिसंबर को केंद्रीय जल संसाधन मंत्री द्वारा बुलायी मीटिंग में ज़रूर शामिल होंगे। भगवंत सिंह मान ने कहा कि मीटिंग में वह पंजाब का पक्ष मजबूती से केंद्र सरकार के समक्ष रखेंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब के पास किसी अन्य राज्य को देने के लिए अतिरिक्त पानी नहीं है और मीटिंग में यह बात ज़ोरदार ढंग से रखी जायेगी। उन्होंने कहा कि वह किसी से डरते नहीं हैं और केंद्र सरकार की तरफ से बुलायी मीटिंग के दौरान वह राज्य के हितों की रक्षा करेंगे। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली जनवरी से 13 अप्रैल तक विशेष मुहिम चलाई जायेगी, जिस दौरान ज़मीन का सहमति से बटवारा करने के लिए गाँवों में विशेष कैंप लगाए जाएंगे। उन्होंने किसानों को भरोसा दिया कि अगर किसानों का ज़मीन के स्वामित्व के कोई विवाद नहीं होगा, वहाँ ज़मीन का स्वामित्व कब्ज़े के आधार पर कर दिया जायेगी। भगवंत सिंह मान ने कहा कि जो किसान सहमति से ज़मीन का बटवारा करवाना चाहते हैं, उनको इससे काफ़ी लाभ होगा। 
एक अन्य किसान हितैषी फ़ैसले में मुख्यमंत्री ने गाँवों में सहकारी सभाओं में नये खाते खोलने पर लगी रोक हटाने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि अब किसान इन सभाओं में अपने खाते खोल सकते हैं जिससे उनको बड़ा लाभ मिलेगा। भगवंत सिंह मान ने कहा कि मौजूदा वित्तीय साल के अंत तक किसानों का हर तरह का बकाया मुआवज़ा जारी कर दिया जायेगा। 

मुख्यमंत्री ने किसानों को भरोसा दिलाया कि सरहन्द फीडर के टेलों पर पानी मुहैया करवाने के लिए लगाऐ गए 242 लिफ़्ट पंपों को एक जनवरी से मुफ़्त बिजली मिलनी शुरू हो जायेगी। उन्होंने कहा कि आवारा और जंगली जानवरों से निपटने के लिए सरकार किसानों को पर्मिट देने पर विचार कर रही है क्योंकि यह जानवर किसानों की फसलों का बर्बादी करते हैं। भगवंत सिंह मान ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के सहकारी बैंकों के कर्ज़े के एकमुश्त निपटारे के मसले को नाबार्ड के पास विचारेगी। 

 

 

 
Have something to say? Post your comment
More Punjab News
भारत व कनाडा के बीच औद्योगिक निवेश को बढ़ावा देना जरूरी
गुरू की नगरी में पहला शिल्प समागम आज से
नई वंदे भारत एक्सप्रेस को जालंधर में स्टॉपेज दिलवाने के लिए रेल मंत्री से मिले सांसद सुशील रिंकू 
पंजाब के सभी चुनावों में मोर्चा निभाएगा अहम भूमिका- सागर रायका
उद्योगपति पंजाब में करेंगे उद्योगों का विस्तार, सरकार के करेगी मदद:भुल्लर
इस बार तीन लाख 35 हजार ने देखा पाईटैक्स, टूटा रिकार्ड
सिडबी ने पाईटैक्स में लगाया स्वाबलंबन मेला:मौर्य
अमृतसरियों ने पाईटैक्स की मस्ती के साथ मनाया संडे
पंजाब में लागू हो एक जिला एक उत्पाद योजना:सचदेवा
रक्तदान के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने की जरूरत:थोरी