Saturday, June 15, 2024
Follow us on
BREAKING NEWS
वार्ड नंबर 28 मलोया में छबील का आयोजन हुआफोर्टिस अस्पताल मोहाली के डॉक्टरों ने रक्तदान करने से स्वास्थ्य लाभों पर प्रकाश डालासूचना, जनसंपर्क महानिदेशक की मौजूदगी में चार दिन तक हुई स्क्रीनिंगवेलवेट क्लार्क्स एक्सोटिका, जीरकपुर-चंडीगढ़ में 'गो मैं-गो' फेस्टिवल शुरूपंजाब सरकार जल्द करेगी 300 वैटरनरी अधिकारियों की भर्ती: गुरमीत सिंह खुडि्डयांश्मशान घाट के जीर्णोद्धार के लिए 7 करोड़ रुपए खर्च करना आप-कांग्रेस की खुली लूट का संकेत: भाजपा अध्यक्षअम्बाला के एसडी कॉलेज में आयोजित किया गया विश्व रक्तदाता दिवसमुख्यमंत्री नायब सिंह द्वारा पद्मश्री अवार्डियों को किया गया सम्मानित
 
 
 
National

गुरुग्राम में गुरू पूर्णिमा पर गुरूजी के दर्श-दीदार कर संगत हुई निहाल

संजय कुमार मेहरा | July 13, 2022 10:16 PM

-नाम चर्चा घर में गुरूजी के लाइव दर्शनों को दोपहर से ही पहुंचने लगी थी संगत
-नाम चर्चा घर को रंग-बिरंगे गुब्बारों, लडिय़ों से सजाया गया
-गुरू पूर्णिमा की साध-संगत ने गुरूजी को नारा लगाकर दी बधाई
-आई लव एमएसजी लिखकर किया गुरू के प्रति प्रेम का इजहार
-रंग-बिरंगे परिधानों में सज-धजकर पहुंची थी बहनें, बच्चे
-भाईयों ने धोती-कुर्ता के साथ गुलाबी रंग की पगड़ी पहनी थी


संजय कुमार मेहरा
गुरुग्राम। डेरा सच्चा सौदा के श्रद्धालुओं के लिए इस बार का गुरू पूर्णिमा दिवस पहले के गुरू पूर्णिमा दिवसों से कहीं अधिक जोश भरा रहा। संगत के लिए यह दिन किसी बड़े पर्व से कम नहीं था। अपने गुरू संत डा. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इंसा के दर्शनों के लिए साध-संगत दोपहर से ही साउथ सिटी-2 स्थित नाम चर्चा घर में पहुंचनी शुरू हो गई थी। देखते ही देखते नाम चर्चा घर में भाईयों, बहनों और बच्चों की अच्छी-खासी संख्या हो गई। यहां प्रबंधकों ने साध-संगत के लिए बेहतरीन प्रबंध भी किए थे।

 


गुरू पूर्णिमा के अवसर पर नाम चर्चा घर को रंग-बिरंगी लडिय़ों और रंग-बिरंगे गुब्बारों, बेल, रंग-बिरंगी पत्तियों से सजाया गया था। गुरूजी के दर्शनों को पहुंची साध संगत में बहनों व छोटी बेटियों ने अपने सिर रंग-बिरंगे हेयर बैंड भी लगा रखे थे। संगत के लिए यह आयोजन किसी बड़े सत्संग से भी कम नहीं थी। गेट में प्रवेश करते ही बड़ी स्क्रीन लगाई गई थी, ताकि संगत आराम से और भव्यता से गुरूजी के दर्श-दीदार कर सके।

इसी बड़ी स्क्रीन के सामने ही चार बड़े-बड़े केक भी रखे गए थे, जिन्हें गुरू पूर्णिमा के अवसर पर काटकर संगत में प्रसाद के रूप में वितरित किया गया। केक की टेबल को भी गुलाब व गेंदे के फूलों से सजाया गया था। पूरी संगत गुरू जी के साथ डिजिटल रूप से बिताए गए इन पलों को अपने मोबाइल कैमरों में कैद करने को आतुर थी। साथ ही संगत गुरू जी के यू-ट्यूब चैनल को उनके मंच पर आते ही लाइक करने को लालायित थी।


इन सबके बीच सेवादारों द्वारा पानी, ट्रैफिक आदि की सेवा भी बड़े अनुशासनिक तरीके से की जा रही थी। बच्चों में भी यहां गजब की सेवा भावना दिखी। शाम 7 बजे तक संगत की खूब भीड़ हो गई। स्क्रीन पर पहले गुरूजी के वीडियो भजन चलाए गए तो संगत झूम उठी। पूरी संगत पूरे जोश और जुनून में मस्त होकर नाचती रही। इसके बाद ढोल की थाप पर बोलियां लगाकर भी संगत ने खूब डांस किया। इसके बाद जब गुरूजी के स्क्रीन पर दर्श-दीदार हुए तो गुरुग्राम की साध-संगत का वैरागय के साथ खुशी का कोई ठिकाना ना रहा। संगत ने गुरूजी के जी भरकर दर्श-दीदार किए। संगत के भी सदस्यों ने गुब्बारे लहराकर गुरूजी का स्वागत किया। बीच-बीच में संगत नृत्य भी करती नजर आई।

 

 
Have something to say? Post your comment
More National News
खट्टर साहब को शहरी विकास मंत्रालय मिला, अब पहली कलम से हरियाणा के लाखों बेघरों को मकान दें: डॉ सुशील गुप्ता
तीसरी बार प्रधानमंत्री बनते ही देशभर के किसानों को मोदी की बड़ी सौगात, पहले ही दिन इस फाइल पर किए साइन
प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण से पहले हुआ नौवां सेल्फी विद डॉटर डे कार्यक्रम
त्रिपुरा में कुएं की सफाई के दौरान जहरीली गैस से तीन मजदूरों की मौत
दिल्ली के अस्पताल और नर्सिंग होम में एसीबी की छापेमारी
कोटा में नीट की छात्रा ने नौवीं मंजिल से कूदकर की आत्महत्या
हिमाचल प्रदेश को दिल्ली को 137 क्यूसेक पानी देने का आदेश : सुप्रीम कोर्ट
चंद्रबाबू नायडू 12 जून को लेगे सीएम पद की शपथ
नरेंद्र मोदी चुने गए एनडीए के नेता
केजरीवाल की न्यायिक हिरासत 19 जून तक बढ़ी