Saturday, January 22, 2022
Follow us on
 
 
 
National

कोविड सैस का पैसा स्वास्थ्य सुविधाओं पर होगा खर्च:रविकांत शर्मा

December 12, 2021 07:14 PM

चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर रविकांत शर्मा ने विरोधियों पर पलटवार करते हुए कहा है कि कोरोना काल में निगम को कोविड सैस के रूप में मिला पैसा कोरोना राहत और स्वास्थ्य सुविधाओं पर ही खर्च किया जा रहा है। इस मुद्दे पर भाजपा को घेरने वाले कांग्रेसी एक बार शहर वासियों को बताएं कि उन्होंने कोरोना काल में क्या किया है। शहर वासी इस बारे में जानना चाहते हैं।

रविकांत शर्मा ने आज यहां पार्टी कार्यालय कमलम में आयोजित दैनिक मीडिया ब्रीफिंग के दौरान बताया कि कोरोना के दौरान निगम को कोविड सैस के रूप में कुल 28 करोड़ मिले। यह पैसा कोरोना राहत और स्वास्थ्य सेवाओं पर खर्च किया जा रहा है।
मीडिया ब्रीफिंग में उनके साथ पार्टी प्रवक्ता कैलाश जैन, कार्यालय सचिव दीपक मल्होत्रा भी मौजूद थे। रविकांत शर्मा ने बताया कि 28 करोड़ में से 10 करोड़ रुपए स्वास्थ्य विभाग को दिए जा रहे हैं। इसके लिए सभी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं।

सैस में आये 28 करोड़ में से 10 करोड़ स्वास्थ्य विभाग को होंगे जारी

बगैर टैक्स लगाए निगम को वित्तीय संकट से उबारा

जब कांग्रेसी घरों में थे तो भाजपा कार्यकर्ता लोगों की मदद कर रहे थे

शहर में 32 लाख लोगों के लिए चलाई रसोई

दूसरी लहर में पड़ोसी राज्यों के लोगों ने चंडीगढ़ में करवाया उपचार

 

 


इसके अलावा निगम के अधीन आने वाली डिस्पेंसरियां में भी जरूरत के अनुसार यह पैसा खर्च किया जाएगा। मेयर ने बताया कि चंडीगढ़ निगम द्वारा गोवा की तर्ज पर चंडीगढ़ को भी रेबीज फ्री बनाया जा रहा है। यह पैसा इस प्रोजेक्ट पर भी खर्च किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल में वित्तीय संकट का हवाला देकर निगम में ताले लगाने की बात की जाति यही वही भाजपा के कार्यकाल में बिना कोई टैक्स लगाए वित्तीय स्थिति को मजबूत किया है।

रविवार को भाजपा कार्यालय में रविकांत शर्मा तथा भाजपा प्रवक्ता कैलाश जैन ने पत्रकारों से बातचीत में कोरोना काल के दौरान पहले लॉकडाउन में भाजपा के 2400 से अधिक कार्यकर्ताओं ने सेवा ही संगठन के माध्यम से काम किया। उन्होंने बताया कि शहर में अलग-अलग स्थानों पर 52 रसोइयां चलाकर 75 हजार पैकट रोजाना खाना वितरित किया। कोरोना काल में कुल 32 लाख 99 हजार 515 भोजन के पैकेट एवं 11 हजार 652 सूखे राशन के पैकेट वितरित किए गए। इसके अलावा कार्यकर्ताओं ने पांच लाख 50 हजार मास्क वितरित किए गए।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री राहत कोष में योगदान के लिए 23 हजार 710 चंडीगढ़ वासियों की मदद से दो करोड़ 27 लाख 46 हजार 872 रुपये दिए गए। यही नहीं पार्टी के 110 कार्यकर्ताओं ने अपनी जान पर खेल कोरोना मरीजों के साथ रहकर उनकी जान बचाने का काम किया। लॉकडाउन में जब पलायन चल रहा था तो 3100 पैदल यात्रियों को परिवहन सुविधा मुहैया करवाई गई। 2291 पदाधिकारियों ने विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम चलाकर लोगों को जागरूक किया।

शहर में तीन लाख 34 हजार लोगों से आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करवाया गया। शर्मा ने बताया कि शहर में कोरोना काल के दौरान भाजपा द्वारा विभिन्न स्थानों पर हेल्पलाइन काउंटर बनाए गए। जिसमें 2280 लोगों ने हेल्प ली। कोरोना के दौरान जब रक्त का संकट आया तो भाजपा द्वारा 697 यूनिट एकत्र किए गए। 7150 प्रवासियों को जरूरत का सामान दिया गया।
उन्होंने बताया कि पहली लहर के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने जिस तरह से प्रशासन के साथ मिलकर शहर वासियों की मदद की तो दूसरी लहर के दौरान शहर में कोई ऑक्सीजन का संकट नहीं हुआ। दिल्ली समेत अन्य पड़ोसी राज्यों के मरीजों का इलाज भी चंडीगढ़ में हुआ।

कोरोना में किये कार्यों पर शहर वासियों को रिपोर्ट दे कांग्रेस
नगर निगम के मेयर रविकांत शर्मा ने कोरोना कार्यों को लेकर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि भाजपा से सवाल करने वाली कांग्रेस पहले अपने गिरेबान में झांके। कांग्रेस शहर वासियों को रिपोर्ट जारी कर बताए कि उन्होंने कोरोना काल में क्या क्या कार्य किये हैं।

 

 
Have something to say? Post your comment
More National News
जब-जब चंडीगढ़ वासी बुलाएंगे तब-तब आउंगा
राष्ट्रीय व राज्य के राजमार्गों पर भारी वाहनों के लिए एक लेन ड्राइविंग को दुरूस्त किया जाएगा:विज गीता जयंती समारोह में ऑनलाइन अतिथि होंगे प्रधानमंत्री आंगनवाडी कार्यकर्ताओं को सुपरवाइजर बनने के लिए पास नहीं करनी होगी परीक्षा रोडवेज के बेड़े में शामिल की जा रही नई बसें:मूलचंद हरियाणा के भट्टूकलां थाने को मिला ‘सर्वश्रेष्ठ पुलिस स्टेशन‘ अवार्ड
वैश्य समाज जेब में नहीं, प्रगति का अगुवाः अग्रवाल वैश्य समाज
महंगाई से आम आदमी बेहाल,खट्टर अपनी सरकार को बता रहे कमाल
हरियाणा विधान सभा मनाएगी अमृत महोत्सव
मनोहर सरकार के सात साल पूरे पर हुड्डा ने पूछे सात सवाल