Chandigarh

कांग्रेस क्वारंटाइन से बाहर निकलने का प्रयास कर रही है, जनता वापस क्वारंटाइन में भेजने की तैयारी में :संजय टंडन

December 10, 2021 08:26 PM

चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम में कांग्रेस के कार्यकाल को बूथ घोटाले, रेल घोटाले तथा कपड़े चोरी के लिए हमेशा याद किया जाएगा। कांग्रेस के कार्यकाल के दौरान घोटाले और फर्जीवाड़े देखने को मिलते थे। पिछले छह वर्षों से कांग्रेस क्वारंटाइन में है और इस चुनाव में क्वारंटाइन से बाहर आने का प्रयास कर रही है, जबकि जनता उन्हें दोबारा क्वारंटाइन में भेजने की तैयारी कर रही है।


चंडीगढ़ को दिल्ली मॉडल की नहीं, दिल्ली को चंडीगढ़ मॉडल की जरूरत


भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रचार अभियान ने जोर पकड़ लिया है। शहर में सभी भाजपा प्रत्याशियों को भारी जन समर्थन मिल रहा है। आज प्रदेश कार्यालय कमलम में भाजपा की तरफ से पूर्व संजय टंडन द्वारा मीडिया ब्रीफिंग दी गई। इस अवसर पर उनके साथ प्रदेश प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी कैलाश जैन, प्रदेश सचिव अमित राणा तथा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष व मीडिया टीम सदस्य अरूणदीप सिंह भी मौजूद थे। मीडिया ब्रीफिंग में बोलते हुए संजट टंडन ने कहा कि भाजपा के खिलाफ चार्जशीट जारी करने वाली कांग्रेस पहले अपने गिराबान में झांककर देखे।

टंडन ने कहा कि कांग्रेस ने अपने 14 साल के कार्यकाल में सिर्फ घोटाले की किए हैं जबकि भाजपा ने शहर में विकास को गति दी है। भाजपा ने अपने कार्यकाल के दौरान चंडीगढ़ में तमाम विकास के कार्य किए है जिससे अब चंडीगढ़ हैप्पी इंडेक्स में अव्वल नंबर पर है। टंडन ने एक सर्वे का हवाला देते हुए कहा कि चंडीगढ़ दूसरे शहरों के मुकाबले काफी बेहतर है।  

उन्होंने कहा कि जब पूरा देश आक्सीजन की समस्या से जूझ रहा था तब चंडीगढ़ न केवल आक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर था बल्कि पड़ोसी राज्यों की जरूरत को भी चंडीगढ़ ने ही पूरा किया।

टंडन ने प्रदूषण के मुद्दे पर भाजपा का पक्ष रखते हुए कहा कि शहर की हवा को साफ रखने के लिए ट्रांसपोर्ट चौंक पर ऑक्सीजन प्यूरीफाई लगाया गया है और यह सब भाजपा के कार्यकाल में हुआ है। शहर में ग्रीनरी 38 से बढक़र 46 प्रतिशत तक पहुंची है। इसके साथ ही शहर की सडक़ों के किनारे साइकिल ट्रैक बनाए गए हैं जिससे साइकिल चालकों को सुविधा मिल सके।

टंडन ने कहा कि चंडीगढ़ को दिल्ली मॉडल की नहीं बल्कि दिल्ली को चंडीगढ़ मॉडल की जरूरत है। टंडन ने कहा कि चंडीगढ़ में लाल डोरे को समाप्त करके साथ लगते गांवों को जोड़ा जाएगा और एक मॉडल विलेज के रूप में विकसित किया जाएगा।

टंडन ने कहा की यूटी इम्प्लाइज होम्स स्कीम 2008 में आई थी लेकिन 2012 में कांग्रेस के समय में कांग्रेस के गवर्नर ने इस स्कीम को बंद कर दिया था। जिसके बाद 2014 में भाजपा ने आने के बाद इसे रीओपन किया और 2016 में इस स्कीम को दोबारा शुरू किया। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ शहर में जितना भी काम हुआ है वह सिर्फ और सिर्फ भाजपा के कार्यकाल में हुआ है।

 
Have something to say? Post your comment