Saturday, January 22, 2022
Follow us on
 
 
 
Haryana

हरियाणा में आज से शुरू होंगे अंत्योदय ग्राम उत्थान मेले:मनोहर लाल

November 29, 2021 12:32 AM


चंडीगढ़, 28 नवम्बर।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि परिवार पहचान पत्र योजना के तहत एक लाख रूपये से कम आय वाले लगभग एक लाख 50 हजार परिवारों में उद्यमता की भावना बढाने व स्वरोजगार से जोडऩे के साथ-साथ सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का लाभ देने के लिए खंड स्तर पर अंत्योदय ग्राम उत्थान मेलों का आयोजन किया जा रहा है। इसके प्रथम चरण में 29 नवम्बर से 25 दिसम्बर सुशासन दिवस तक 180 स्थानों पर मेलों में प्रदेश भर के युवाओं की इच्छानुसार व्यवसाय चयन करने का मौका दिया जायेगा।
मुख्यमंत्री रविवार को चंडीगढ़ में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति के जीवन स्तर को ऊपर उठाने की अपनी महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री अंत्योदय उत्थान योजना क्रियान्वित की गई है इसके तहत सोमवार से प्रदेश भर में अंत्योदय ग्राम उत्थान मेले लगाए जाएंगे।
मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के पात्र परिवारों की पहचान के लिए विशेष अभियान लांच किया गया जिसमें सवा तीन लाख परिवारों की आय एक लाख रुपये से कम है ऐसे डेढ लाख परिवारों की व्यक्तिगत जानकारी ली गई। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले के जारी शैडयूल अनुसार दो या तीन दिन तक लगने वाले इन अंत्योदय ग्राम उत्थान मेलों में व्यापक स्तर पर व्यवसाय व स्वरोजगार के लिए पात्र परिवारों का चयन किया जाएगा।
इसके लिए प्रदेश को 272 जोनो में बांटा गया है तथा प्रत्येक जोन पर एक नोडल अधिकारी लगाया गया है। इसके अलावा प्रदेशस्तर के अधिकारियों की भी डयूटी लगाई गयी है इनमें सामाजिक कार्यकर्ताओं व जनप्रतिनिधियों को भी शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना में परिवार पहचान पत्र से सत्यापित डेटा प्राप्त किया गया है और इसके आधार पर राज्य के गरीब परिवारों की पहचान की गई। इस योजना में शिक्षा,कौशल विकास,मजदूरी,स्वरोजगार और रोजगार सृजन के अन्य उपायों का एक पैकेज बनाया गया है।
योजना का लक्ष्य शुरू में परिवार की वार्षिक आय कम से कम एक लाख रुपये और बाद में 1.80 लाख रुपये करना है। राज्य में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्य स्तरीय टास्क फोर्स और जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। राज्य के सभी उपायुक्तों को निर्देश देकर जोनों के लिए समितियां बनाई गई हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए 42 योजनाएं चिन्हित की गई हैं जो इन परिवारों की आमदनी बढाने में मददगार होंगी। इनमें पात्रता के लिए एससी,बीसी, महिला, दिव्यांग को प्राथमिकता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार के लिए कृषि, मतस्य, पशुपालन व डेयरी जैसे व्यापारिक, औद्यौगिक क्षेत्रों में व्यवसाय के साथ-साथ स्किलिंग में निपुण करने के लिए कंप्यूटर, चालक, सिलाई कढाई आदि के प्रशिक्षण भी शामिल है।
इसी बाक्स
कैसे मिलेगा रोजगार, अब गारंटी देगी सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियान के पहले चरण में पचास हजार से एक लाख वार्षिक आय तक के परिवारों को आय दोगुणा तक लेकर जाना है इसके लिए बैंकों का पूरा सहयोग लिया जाएगा। मेले के दौरान ही बैंक अधिकारी लोन संबंधी औपचारिकताएं पूरी करेंगे। किसी पात्र व्यक्ति को बैंक गारंटी की आवश्यकता हुई तो उसकी भी मदद सरकार करेगी।
इन मेलों में फार्म सबमिशन डेस्क भी स्थापित किये गये हैं। दूसरे चरण में जनवरी माह के दौरान इन अंत्योदय ग्राम उत्थान मेलों में मंजूर किये गये ऋण वितरित कर कार्य को अंतिम रूप दिया जाएगा। इस प्रकार सेवाभाव से कार्य करते हुए हर किसी की कठिनाई दूर करके सरकार उनके लिए आमदनी दोगुनी करने के साधन मुहैया करवाने के लिए तत्पर है।
 

 

 
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
समाज को स्वस्थ बनाने व कोरोना को खत्म करने के लिए सूर्य नमस्कार जरुरी : पवन जिंदल
गुरुग्राम के अस्पतालों व स्कूलों में शुरू हो गया किशोरों का टीकाकरण
सभी जिलों में आक्सीजन के प्रबंध पूरे करें उपायुक्त:मनोहर लाल
छात्रों को विभिन्न संस्कृतियों और भाषाओं के बारे में सीखना चाहिए: मनोहर लाल
जब वाजपेयी ने तीन मिनट में दिया था गुड गवर्नेंस का संदेश
सुपवा हरियाणा में शुरू करेगी साप्ताहिक कोर्स
भाजपा ने चंडीगढ़ में बदले राजनीति के मायने:खट्टर
--हरियाणा विधनसभा का शीतकालीन सत्र--
कांग्रेस कल्पनाओं में चलकर अस्वस्थ्य हो चुकी पार्टी:संतोष
पर्यटन के क्षेत्र में लगातार बढ़ रही हैं नौकरियां:संजय कुमार