Punjab

पंजाब में आतंकी हमला किया नाकाम

November 24, 2021 11:05 PM

चंडीगढ़, 24 नवंबर। पंजाब पुलिस ने तरनतारन के गांव सोहल निवासी एवं विदेश आधारित आतंकवादी संगठनों से जुड़े कट्टरपंथी ऑपरेटिव रणजीत सिंह की गिरफ्तारी के साथ संभावी आतंकवादी हमले को नाकाम कर दिया है। पुलिस ने उसके कब्ज़े से दो चीनी पी-86 हथगोले और दो पिस्तौलों सहित जींदा कारतूसों के अलावा पी.बी.02-डी.ए-6685 नंबर वाला एक काले रंग का रॉयल इनफील्ड मोटरसाइकिल भी बरामद किया है।
डीजीपी इकबालप्रीत सिंह ने बताया कि अमृतसर के इलाके में रणजीत सिंह की मौजूदगी संबंधी खुफिया सूचना पर कार्रवाई करते हुए एसएसओसी अमृतसर की विशेष टीमों को संदिग्ध व्यक्ति का पता लगाने के लिए निर्धारित क्षेत्र में भेजा गया था और रणजीत सिंह को गिरफ़्तार कर लिया गया। पंजाब में अन्य हथियारों के साथ-साथ हथगोले और टिफिन बमों की भारी आमद देखने को मिल रही है। सीआईए नवांशहर और पठानकोट के छावनी क्षेत्र में दो ग्रेनेड धमाकों के मामले और जीरा क्षेत्र से एक जिंदा हथगोले की बरामदगी के मामले सामने आए थे।
डीजीपी ने बताया कि जांच के दौरान रणजीत ने खुलासा किया कि उसने सामाजिक कार्यों के बहाने फंड इक_ा करने के लिए ‘कौम दे राखे’ नामक ग्रुप बनाया था और इस ग्रुप के द्वारा सोशल मीडिया के ज़रिये वह यूके और अन्य देशों में रहते अलग-अलग कट्टरपंथी और दहशतगर्द तत्वों के संपर्क में आया था और अपने सामाजिक कार्य की आड़ में स्लीपर सैल बनाने के लिए मदद की पेशकश की थी।
डीजीपी ने बताया कि रणजीत भी उस ग्रुप का हिस्सा था, जिसने 15 जनवरी, 2020 को हरिमंदिर साहिब अमृतसर को जाती विरासती सडक़ पर लोक नृत्यों संबंधी स्थापित बुतों की तोडफ़ोड़ की थी। उन्होंने आगे बताया कि पुलिस की तरफ से रणजीत को बुतों की तोडफ़ोड़ के मामले में गिरफ्तार किया गया था और वह इस समय जमानत पर है। पुलिस ने मामला दर्ज करके अगली कार्रवाई शुरू कर दी है। 

 
Have something to say? Post your comment