Punjab

एक मंच पर आए नवजोत सिद्धू व चरणजीत चन्नी

November 24, 2021 10:48 PM


चंडीगढ़। पिछले कई दिनों से चल रही अंदरूनी खींचतान के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी तथा कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू एक मंच पर आ गए हैं। मौका था किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए पंजाब के किसानों के आश्रितों को नौकरी प्रदान करने का। सोमवार को लुधियाना में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी,
पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू, कैबिनेट मंत्री मनप्रीत सिंह बादल और भारत भूषण आशु ने पांच शहीद किसानों के आश्रितों को सरकारी नौकरियों के नियुक्ति पत्र सौंपे।
मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि पंजाब सरकार हमेशा ही मुल्क के अन्नदाताओं के साथ कंधा से कंधा जोड़ कर खड़ी है। किसानों को लापरवाह होने की बजाय तब तक चौकस रहना चाहिए, जब तक यह घृणित कृषि कानून रद्द नहीं हो जाते। उन्होंने कहा कि पंजाब की तरक्की और ख़ुशहाली को रास्ते से उतारने और किसानों के हितों को नुकसान पहुंचाने के लिए नयी साजिशें रची जा रही हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब तक फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी नहीं मिल जाती, तब तक काले कानून रद्द कर देने का ऐलान भी बेमायना और बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को यह यकीनी बनाना चाहिए कि किसानों की फ़सल का एक-एक दाना न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उठाया जाये जिससे किसानों को निजी खरीददारों के हाथों से लूट से बचाया जा सके। मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि पंजाब और किसानों के लिए यह कुछ दिन बहुत अहम हैं और हम सभी को और ज्यादा चौकस रहने की ज़रूरत है। मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि यह यादगार राज्य सरकार की तरफ से मुल्क के अन्नदाताओं को विनम्र श्रद्धाँजलि होगी।
00000000000000000000000
पंजाब में 100 रुपये महीना होगा केबल टीबी कनैक्शन:चन्नी
चंडीगढ़। पंजाब में केबल माफिया के खिलाफ जंग का ऐलान करते हुए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने केबल टी.वी. कनैक्शन की दर 100 रुपए महीना तय करने का ऐलान किया जिससे राज्य भर में केबल के एकाधिकार को मुकम्मल तौर पर ख़त्म किया जा सके।
लुधियाना में एक रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि केबल माफिया द्वारा अतिरिक्त दरों की वसूली के द्वारा लोगों का अनावश्यक शोषण किया जा रहा है जिसको भविष्य में और बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चन्नी ने कहा कि ट्रांसपोर्ट और केबल के ऐसे सभी कारोबार पर बादल परिवार की मालकी है और अब लोगों को हर महीने 100 रुपए से अधिक देने की ज़रूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि नयी दरों की पालना न करने वालों के सख़्त कार्यवाही की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यदि आपको कोई तंग-परेशान करता है तो मुझे बताओ।’’ उन्होंने यह भी ऐलान किया कि सभी ग़ैर-कानूनी बस पर्मिट रद्द किये जाएंगे और बदले में बेरोजग़ार नौजवानों को नये पर्मिट अलाट किये जाएंगे।
 
Have something to say? Post your comment