Haryana

किसानों की मांग पूरी, अब आंदोलन करें समाप्त:तावड़े

November 24, 2021 10:44 PM
 

चंडीगढ़। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं हरियाणा प्रभारी विनोद तावड़े ने कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि कानूनों को वापिस लिए जाने के बाद किसान संगठनों को आंदोलन समाप्त कर देना चाहिए। जिस मांग के लिए किसान संगठन आंदोलनरत थे वह अब पूरी हो गई है अब भी आंदोलन करना दुर्भाग्यपूर्ण है।
भारतीय जनता पार्टी हरियाणा के प्रदेश प्रभारी विनोद तावड़े को राष्ट्रीय महासचिव बनने के बाद सोमवार को पहली बार चंडीगढ़ पहुंचे और हरियाणा के पदाधिकारियों से रूबरू हुए। पार्टी मुख्यालय पहुंचने पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ समेत अनेक वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने तावड़े का अभिनंदन किया।
इस अवसर पर बोलते हुए तावड़े ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता होने के नाते वह यह भली प्रकार से समझता हूं किनए दायित्व के साथ जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं। अपनी जिम्मेदारियों को अपनी पूर्ण क्षमताओं से निभाते हुए आप सब कार्यकर्ताओं के स्नेह और अपेक्षाओं पर भी खरा उतरने का प्रयास करूंगा। उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानूनों को वापिस करने में आंतरिक एवं बाहरी सुरक्षा से जुड़े अनेक विषय हो सकते हैं।
प्रधानमंत्री के लिए देशहित सबसे पहले है।  इससे पहले तावड़े का स्वागत करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा तावड़े को दी गई जिम्मेदारी संगठनात्मक दृष्टी से एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे पार्टी को मजबूती मिलेगी और हरियाणा के कार्यकर्ताओं को इसका लाभ मिलेगा। इस अवसर पर सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री रत्नलाल कटारिया, प्रदेश महामंत्री डॉ पवन सैनी,मोहनलाल बडौली, भाजपा के प्रदेश मिडिया प्रमुख संजय शर्मा समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे।
 
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
हर वर्ष 2500 डॉक्टर तैयार करने का लक्ष्य:मनोहर लाल विश्वविद्यालयों को आत्मनिर्भर बनाने में पूर्व छात्रों का अहम योगदान:दत्तात्रेय हरियाणा में आज से शुरू होंगे अंत्योदय ग्राम उत्थान मेले:मनोहर लाल सही सुझाव आने पर बदल सकते हैं एचपीएससी भर्ती नियम:मनोहर लाल सही सुझाव आने पर बदल सकते हैं एचपीएससी भर्ती नियम:मनोहर लाल आप कार्यकर्ताओं ने एचपीएससी स्टाफ को किया नजरबंद खराब मीटरों को तुरंत बदल कर स्मार्ट मीटर लगाएं:पचनंदा परिवहन कर्मचारियों के लिए बने सेवा नियम हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र 17 दिसंबर से एचपीएससी केनौकरी बिक्री घोटालों की जांच शुरू होने से पहले हुई बंद!