Haryana

ऐलनाबाद उपचुनाव पर हुड्डा का पलटवार

November 16, 2021 10:41 PM

चंडीगढ़, 16 नवंबर। ऐलनाबाद  उपचुनाव हारने के बाद कांग्रेस में मचे घमासान को नया मोड़ देते हुए नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने प्रत्याशी चयन पर ही सवाल उठा दिए हैं। हुड्डा ने दावा किया है कि ऐलनाबाद में कांग्रेस प्रत्याशी ने मजबूती के साथ चुनाव नहीं लड़ा।
मंगलवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत में हुड्डा ने कहा कि चुनाव के नतीजों की जांच होनी चाहिए। कांग्रेस हाईकमान उपचुनाव नतीजों की समीक्षा करे ताकि बुरी हार का पता लग सके। उन्होंने दावा किया कि पवन बैनीवाल ने मजबूती के साथ चुनाव नहीं लड़ा। अगर प्रत्याशी ने चुनाव लड़ा होता तो नतीजे कुछ और होते।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा का नाम लिए बिना हुड्डा ने प्रत्याशी चयन को लेकर भी सवाल उठाए। चयन से जुड़े सवाल पर हुड्डा ने कहा, बेशक चयन के लिए हुई बैठक में मैं भी शामिल था लेकिन बैठक के अंदर की बातें मैं सार्वजनिक नहीं करूंगा। भाजपा-जेजेपी गठबंधन प्रत्याशी गोविंद कांडा को प्रचार के दौरान अपना दोस्त बताने के सवाल पर हुड्डा ने कहा कि मैंने क्या गलत कहा। क्या मैं यह झुठला सकता हूं कि कांडा मेरी सरकार में मंत्री रहा। मैंने तो अभय को भी अपना दोस्त बताया था।
इस दौरान पूर्व मंत्री शिक्षा मंत्री व झज्जर विधायक गीता भुक्कल, आफताब अहमद, वरुण चौधरी, अमित सिहाग, भारत भूषण बतरा, जगबीर सिंह मलिक, मेवा सिंह, बलबीर सिंह वाल्मीकि, कुलदीप वत्स, बिशन लाल सैनी, शकुंतला खटक, इंदूराज नरवाल, राव दान सिंह, पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा, हुड्डा के पूर्व ओएसडी महेंद्र सिंह चोपड़ा, रणधीर सिंह, मीडिया इंचार्ज सुनील परती, चांदवीर हुड्डा, पवन जैन सहित कई वरिष्ठ नेता उनके साथ मौजूद रहे।

 
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
हर वर्ष 2500 डॉक्टर तैयार करने का लक्ष्य:मनोहर लाल विश्वविद्यालयों को आत्मनिर्भर बनाने में पूर्व छात्रों का अहम योगदान:दत्तात्रेय हरियाणा में आज से शुरू होंगे अंत्योदय ग्राम उत्थान मेले:मनोहर लाल सही सुझाव आने पर बदल सकते हैं एचपीएससी भर्ती नियम:मनोहर लाल सही सुझाव आने पर बदल सकते हैं एचपीएससी भर्ती नियम:मनोहर लाल आप कार्यकर्ताओं ने एचपीएससी स्टाफ को किया नजरबंद खराब मीटरों को तुरंत बदल कर स्मार्ट मीटर लगाएं:पचनंदा परिवहन कर्मचारियों के लिए बने सेवा नियम हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र 17 दिसंबर से एचपीएससी केनौकरी बिक्री घोटालों की जांच शुरू होने से पहले हुई बंद!