Saturday, January 22, 2022
Follow us on
 
 
 
Haryana

कपाल मोचन मेले में शामिल होंगे 8 लाख श्रद्वालु, तैयारियां पूरी

November 12, 2021 11:30 PM

 

 
चंडीगढ़,12 नवंबर।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि आदि बद्री धार्मिक स्थल को पर्यटन के रूप में भी विकसित करने के लिए श्राईन बोर्ड व्यापक स्तर पर योजना बनाकर कार्य करे। इसके अलावा आवागमन के लिए जगाधरी से आदि बद्री तक स्थाई बस सेवा शुरु की जाए।
मुख्यमंत्री आज यहां श्री कपाल मोचन, श्री बद्री नारायण, श्री मन्त्रा देवी एवं श्री केदारनाथ श्राईन बोर्ड बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 15 से 19 नवम्बर तक आयोजित होने वाले कपाल मोचन मेले की सभी तैयारियां व श्रद्वालुओं की सुविधाओं के लिए विशेष प्रबंध किए जाए । इस मेले में लगभग 8 लाख श्रद्वालुओं के शामिल होने का अनुमान है जिसमें पंजाब, हरियाणा व हिमाचल से श्रद्वालु पहुंचेगे। 
उन्होंने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा को 18 व 19 नवम्बर रात्रि के समय श्रद्वालुओं की संख्या अधिक मात्रा में होगी। इसके लिए विशेष प्रबंध किए जाएं। श्रद्वालुओं को मेले में शामिल होने के लिए जिला प्रशासन के पोर्टल पर पंजीकरण करवाना अनिवार्य है। 
बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि मेले में कंटोल रूम स्थापित किया गया है तथा कोविड-19 की परिस्थितियों के मध्येनजर श्रद्वालुओं की सुविधा के लिए मेला परिसर में हेल्थ चैकअप कांउटर बनाए जाएंगे। इसके अलावा दो मोबाईल युनिट मेला परिसर में मौजूद रहेंगी जो श्रद्वालुओं की टेस्टिंग एवं वेक्सिनेशन का कार्य भी करेंगी। अगर कोई श्रद्वालु कोविड पोजिटिव पाया जाता है तो उनके लिए 100 बेड का कंटेनमेंट केन्द्र बनाया गया है। मेले में मास्क एवं सेनेटाईजर का प्रबंध किया जाएगा। सुरक्षा के दृष्टिगत 19 चैक पोस्ट बनाने के साथ साथ 50 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। श्रद्वालुओं के लिए 12 पार्किंग की व्यवस्था की गई है।   
मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्वालुओं की आस्था के अनुरुप कपाल मोचन सरोवर, ऋण मोचन सरोवर, सूर्यकुण्ड, आदि बद्री, मन्त्रा देवी व श्री केदारनाथ सहित सभी धार्मिक स्थलों को कार्यकारी कमेटी का गठन कर विकसित  किया जाए। इन स्थलों के सभी रास्ते बनाए जाएं , विशेषकर बिलासपुर से कपाल मोचन सड़क का सुधारीकरण करने के साथ साथ डिवाइडर बनाया जाए। उन्होंने कहा कि लगभग 12 करोड़ रुपए की राशि से चल रहे विकास की कार्यो को जल्द पूरा किया जाए। श्राईन बोर्ड की आगामी बैठक 6 माह के बाद आयोजित की जाए। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर भी बैठक आयोजित कर श्राईन बोर्ड के कार्यो की नियमित समीक्षा की जाए। इस अवसर पर सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन सुभाष बराला, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव डी एस ढेसी, प्रधान सचिव शहरी स्थानीय निकाय अरुण गुप्ता व निदेशक  डी के बेहरा, यमुनानगर के उपायुक्त व श्राईन बोर्ड के सदस्य सचिव पार्थ गुप्ता तथा बोर्ड के गैर सरकारी सदस्य विपिन, सुभाष गौड़, बलदेव सिंह मौजूद रहे। 
 
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
समाज को स्वस्थ बनाने व कोरोना को खत्म करने के लिए सूर्य नमस्कार जरुरी : पवन जिंदल
गुरुग्राम के अस्पतालों व स्कूलों में शुरू हो गया किशोरों का टीकाकरण
सभी जिलों में आक्सीजन के प्रबंध पूरे करें उपायुक्त:मनोहर लाल
छात्रों को विभिन्न संस्कृतियों और भाषाओं के बारे में सीखना चाहिए: मनोहर लाल
जब वाजपेयी ने तीन मिनट में दिया था गुड गवर्नेंस का संदेश
सुपवा हरियाणा में शुरू करेगी साप्ताहिक कोर्स
भाजपा ने चंडीगढ़ में बदले राजनीति के मायने:खट्टर
--हरियाणा विधनसभा का शीतकालीन सत्र--
कांग्रेस कल्पनाओं में चलकर अस्वस्थ्य हो चुकी पार्टी:संतोष
पर्यटन के क्षेत्र में लगातार बढ़ रही हैं नौकरियां:संजय कुमार