National

नेताओं के गांव छत के स्कूल व डिस्पैंसरी के आगे कूड़े के ढेर

September 30, 2021 07:15 PM

जीरकपुर। जीरकपुर-पटियाला मार्ग पर स्थित गांव छत के स्कूल में पढ़ाई के लिए आने वाले बच्चों तथा डिस्पैंसरी में दवाई के लिए आने वाले मरीजों का सामना कूड़े के ढेरों से होता है। बार-बार चेताने के बावजूद नगर परिषद का इस तरफ कोई ध्यान नहीं है।
गांव वासी राहुल, राजपाल, जसवीर सिंह, सुखदेव सिंह छत ने जैक रैजीडेंट वैलफेयर एसोसिएशन के प्रधान सुखदेव चौधरी को बताया कि यहां स्कूल में करीब ढाई सौ बच्चे आते हैं। इसके अलावा डिस्पैंसरी में भी रोजाना मरीजों का आवागमन रहता है।
गांव वासी प्रेम सिंह, बलविंदर कौर, किरणपाल कौर, मनजीत कौर व नरेंद्र सिंह ने बताया कि स्कूल व डिस्पैंसरी के बीच की खाली जगह पर कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। नगर परिषद के कर्मचारी पिछले करीब दो माह से नहीं आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि स्कूल मुख्याध्यापक तथ डिस्पैंसरी के डाक्टरों द्वारा लिखित शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

 
जैक ने दिया दो दिन का समय, होगा ईओ का घेराव


जैक प्रधान सुखदेव चौधरी ने कहा कि छत गांव लंबे समय तक इस इलाके का प्रतिनिधित्व करने वाले मरहूम कैप्टन कंवलजीत सिंह का गांव माना जाता है। इसके अलावा डेराबस्सी इलाके में कांग्रेस के हलका इंचार्ज दीपइंद्र सिंह ढिल्लों भी खुद को इसी गांव का बताते हैं। उनकी तथा उनके परिवार की वोट भी छत में है। इसके बावजूद छत में लगे गंदगी के ढेर बीमारियों को न्यौता दे रहे हैं। बारिश के मौसम में कूड़े के ढेर से बीमारी फैलने का खतरा है। सुखदेव चौधरी ने कहा कि अगर दो दिन के भीतर नगर परिषद ने कूड़े के ढेर नहीं उठवाए तो ग्रामीणों के साथ मिलकर नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी का घेराव किया जाएगा।
 
Have something to say? Post your comment