Punjab

भगत सिंह की सोच अनुसार होगा प्रत्येक फैसला

September 29, 2021 07:05 PM

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज प्रण किया कि राज्य के प्रमुख होने के नाते उनका हर काम शहीद-ए-आज़म भगत सिंह के आदर्श और सोच के मुताबिक होगा।
मुख्यमंत्री ने पंजाब विधान सभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह, कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह और अमरिन्दर सिंह राजा वडि़ंग के साथ आज शहीद भगत सिंह के जन्म दिवस के मौके पर उनको श्रद्धा के फूल भेंट किये। वह शहीद भगत सिंह के पैतृक घर में भी गए। महान शहीद के घर में दाखिल होने से पहले मुख्यमंत्री ने शहीद के पैतृक घर के प्रवेश द्वार पर सिर झुका कर नमन किया।
शहीद-ए-आज़म के पैतृक घर में विज़टर बुक में मुख्यमंत्री ने भावुक संदेश दर्ज करते हुये लिखा, ‘‘धन्य है यह जगह जिसने शहीद-ए-आज़म सरदार भगत सिंह जैसा नेता पैदा किया। इस मिट्टी को अपने मस्तक पर लगाकर मुझे बेहद ख़ुशी हुई। मैं यह प्रण लेता हूं कि बतौर मुख्यमंत्री मैं हर काम इस सोच के साथ करूँगा कि भगत सिंह मुझे देख रहा है।’’
मुख्यमंत्री ने अपने दौरे के दौरान कहा कि इस पवित्र धरती पर राष्ट्रीय स्वतंत्रता संघर्ष ख़ातिर अपना जीवन न्योछावर करने वाले महान शहीद को श्रद्धाँजलि भेंट करके अपने आप को सौभाग्यशाली समझते हैं। चन्नी ने कहा कि वह शहीद-ए-आज़म के सपने साकार करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे। स. चन्नी ने कहा कि देश हमेशा ही महान शहीद का ऋणी रहेगा जिन्होंने मुल्क को बर्तानवी साम्राज्य के चंगुल में से आज़ाद करवाने के लिए 23 वर्षों की युवा अवस्था में अपना जीवन कुर्बान कर दिया। मुख्यमंत्री ने शहीद के रिश्तेदारों को भी सम्मानित किया जिनमें स. सतविन्दर सिंह और स. हरजीवन सिंह गिल, शहीद की बहन अमर कौर के पोते, भाई स्व. कुलतार सिंह के पुत्र स. किरणजीत सिंह, भाई स्व. कुलबीर सिंह की बहु श्रीमती तेजविन्दर कौर संधू, भाई स्व. कुलबीर सिंह सिंह की पोती अनुश प्रिया और शहीद सुखदेव थापर के परिवार से अशोक थापर और विशाल नायर शामिल हैं।
 
Have something to say? Post your comment