National

एनसीआर में पुराने वाहनों के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाएगी पुलिस

September 22, 2021 10:49 AM
 
चंडीगढ़। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को लागू करवाने के लिए हरियाणा पुलिस राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पुराने वाहनों के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाएगी। पुलिस  दस साल पुराने डीजल व 15 साल पुराने पैट्रोल इंजन वाहनों के संचालन को बंद करवाने में सरकार का सहयोग करेगी। हरियाणा के 14 जिले एनसीआर का हिस्सा हैं। 
हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने मंगलवार को इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि वायु प्रदूषण को रोकने के लिए माननीय उच्चतम न्यायालय ने दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में पुराने वाहनों के चलने पर प्रतिबंध लगाया गया है। सुप्रीम कोर्ट की ओर से निर्धारित समय अवधि पूरी करने वाले पुराने वाहनों के संचालन को लेकर भी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। कोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आने वाले हरियाणा के 14 जिलों में इस तरह के वाहन नहीं चल सकते हैं। इन आदेशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए पुलिस चालकों/मालिकों को पुराने वाहनों के चलने पर पाबंदी बारे जागरूक करेगी।

 
बाहर होंगे दस साल पुराने डीजल व 15 साल पुराने पैट्रोल वाहन 
सुप्रीम कोर्ट के आदेशों पर सरकार लगा चुकी है प्रतिबंध 
हरियाणा के 14 जिले आते हैं एनसीआर में

दिशा निर्देशों के अनुसार दस साल पुराने डीजल और 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों को एनसीआर क्षेत्र यानी हरियाणा के 14 जिलों फरीदाबाद, गुरुग्राम, नूंह, रोहतक, सोनीपत, रेवाड़ी, झज्जर, पानीपत, पलवल, भिवानी, दादरी, महेंद्रगढ़, जींद और करनाल में सडक़ों पर चलने की अनुमति नहीं है।
उन्होंने कहा कि इन जिलों में इस तरह के वाहनों के चलने पर रोक लगाने के दिशा-निर्देशों के बारे में वाहन चालकों व मालिकों के साथ-साथ आम जनता को भी जागरूक किया जाएगा। जागरूकता अभियान के तहत ऐसे वाहनों के मालिकों को सरकार की नीति के अनुसार इस श्रेणी के वाहनों को स्क्रैप करने की भी सलाह दी जाएगी। निर्धारित समय अवधि पूरी करने वाले वाहनों के संबंध में पुलिस की विभिन्न टीमें टैक्सी स्टैंड, ऑटो बाजार, ट्रक यूनियन, वाहन बिक्री केंद्र और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर जाकर लोगों को इस संबंध में सूचित करेंगी।
 
Have something to say? Post your comment