Punjab

काले कपड़े पहनकर सदन में पहुंचे सिद्धू

September 04, 2021 01:30 PM
 
 
चंडीगढ़, 3 सितंबर। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू एक दिवसीय सत्र के दौरान बगैर कुछ बोले ही सुर्खियों में रहे। सदन की कार्यवाही के दौरान सिद्धू समूचे सदन और प्रेस का ध्यान आकर्षित करने में कामयाब रहे। सदन की कार्यवाही में शामिल होने पहुंचे सिद्धू कालेज कपड़े पहनकर पहुंचे।
सिद्धू ने जैसे ही सदन के भीतर प्रवेश किया तो पहले वह पिछले बैंचों पर बैठ गए। बाद में उन्होंने सीट बदली। विधानसभा नियम के अनुसार सदन की कार्यवाही के दौरान शरीर के नीचले हिस्से में तो काले रंग के कपड़े पहने जा सकते हैं लेकिन उपरी हिस्से में काले रंग के कपड़े पहनने को विरोध का प्रतीक माना जाता है। यह नियम विधानसभा में आने वाले विधायकों,मंत्रियों, अधिकारियों, पत्रकारों, विधानसभा स्टाफ आदि पर लागू होता है।
नवजोत सिद्धू जैसे ही काले रंग के कपड़े पहनकर सदन के भीतर आए तो विधायकों में चर्चा शुरू हो गई। अकाली दल के विधायकों ने तो सदन की कार्यवाही के बाद यहां तक कहा कि सिद्धू ने आज अपनी ही सरकार के खिलाफ सदन के भीतर रोष व्यक्त किया है। विधायकों में काली ड्रेस को लेकर चर्चा बनी रही के सिद्ध की ड्रेस रोष स्वरूप है। धार्मिक मकसद के लिए बुलाए इस सत्र में सिद्धू की ड्रेस चर्चा में रही। हालांकि सदन में कांग्रेस की मंत्री रजिया सुलताना भी काले कपड़ों थी लेकिन मुस्लिम धर्म मे काला रंग पारंपरिक माना जाता है। सिद्धू के कपड़ों को लेकर कांग्रेस के विधायक भी आपस में चर्चा करते हुए देखे गए।
 
Have something to say? Post your comment
More Punjab News
एमएसपी पर गारंटी दे केंद्र सरकार, पांच एकड़ वाले किसानों का भी कर्ज माफ करे पंजाब सरकार : हरपाल सिंह हरपुरा
पंजाब विधानसभा की कार्यवाही बढ़ाने पर आक्रामक हुआ विपक्ष
पंजाब विधानसभा में किसान आंदोलन के शहीदों को श्रद्धांजलि
राहुल गांधी से अलग कैप्टन अमरिंदर की राय कपूरथला में 100 करोड़ की हैरोइन समेत दो गिरफ्तार ओलंपिक पदक जीतने वाले पंजाबी हॉकी खिलाड़ियों को समर्पित किये गए 10 सरकारी स्कूलों के नाम : विजय इंदर सिंगला
पंजाब के गन्ना किसान रेलवे ट्रैक व सडक़ों पर
पंजाब पुलिस ने आतंकी हमले की साजिश को किया बेनकाब
नवजोत सिद्धू ने पहली नियुक्ति के साथ ही अमरिंदर की एक विकेट गिराई
मुख्यमंत्री द्वारा अनुसूचित जातियों के कल्याण के लिए कई प्रोग्रामों समेत ग्रामीण सम्पर्क सडक़ों के लिए 1200 करोड़ रुपए के प्रोजैक्टों का ऐलान