Saturday, May 15, 2021
Follow us on
 
 
 
National

ड्रग्स की दुष्प्रभावों के प्रति जागरुकता के लिये चंडीगढ़ के साईकलिस्ट करेंगें शिमला तक रैली

POONAM RAWAT | April 01, 2021 05:18 PM

चंडीगढ़, युवाओं में ड्रग्स के पनपते दुष्प्रभाव के प्रति जागरुकता फैलने की दिशा में चंडीगढ़ के साईकलिस्टों ने साईकल रैली के माध्यम से बीड़ा उठाया है। आगामी 3 अप्रैल को चंडीगढ़ से शिमला के निकट फागू तक लगभग 130 किलोमीटर की दूरी तय कर साईकलिस्टों का प्रयास साईकलिंग के द्वारा युवाओं में फिटनैस का पैगाम फैला ड्रग्स से दूरी बनाये रखने का है। आयोजक विक्रांत शर्मा और सुदीप रावत ने बताया कि इस साईकल रैली की विशेष बात यह है कि शिमला के निकट ठियोग स्थित एक साईकलिस्ट कल्ब ‘ठियोग पैडल्स’ के सदस्यों के आहवान पर यह रैली को अंजाम दिया जा रहा है।


ठियोग पैडल्स के साईकलिस्टों के आहवान पर शुरु किया गया कैंपेन

दो महिलायें और 11 वर्षीय किड सहित 21 लोग करेंगें लगभग 130 किलोमीटर की माउंटेन बाईकिंग

विक्रांत शर्मा ने बताया कि साईकलवाॅक्स द्वारा आयोजित इस रैली में कुल 21 साईकलिस्ट भाग ले रहे हैं जिसमें से अधिकतर ने लाॅकडाउन के दौरान ही साईकल को अपना शौक बनाया था।  इन युवाओं में इस शौक को पैशन बनाने में देर नहीं लगी और आज आलम यह है कि यह सभी एक नेक मिशन के लिये चंडीगढ़ से लगभग 8000 फीट स्थित फागू तक पार करने के लिये आतुर हैं। 
इस रैली में दो महिलायें सहित सबसे छोटा रैलिस्ट 11 वर्षीय तन्मय भी है। रैली के विषय पर जानकारी देते हुये सुदीप रावत ने बताया कि 3 अप्रैल शनिवार को सुबह चार बजे सेक्टर 7 स्थित साईकलवाॅक्स साईकलिस्ट कैफे से रैली शिमला के लिये रवाना होगी जो कि धर्मपुर, सोलन, कंडाघाट, शोघी, शिमला होते हुये देर शाम फागू पहुंचेगी जहां रैली का स्वागत ठियोग पैडल्स के साईकलिस्ट करेंगें। 
उन्होंनें बताया कि ठियोग पैडल्स के सदस्यों के अनुसार हिमाचल प्रदेश में नशाखोरी युवाओं में एक विकराल रुप धारण कर रही है जिसके लिये सरकार के साथ साथ स्वयं युवाओं को युवाओं के लिये ही जागृत करने की आवश्यकता है। यह साईकल रैली इसी दिशा में उठाया गया एक छोटा सा प्रयास है।
4 अप्रैल को ठियोग और शिमला सहित अन्य कस्बों में चंडीगढ़ और ठियोग के साईकलिस्ट सांझे रुप से भी साईकलिंग करेंगें और नशाखोरी से होनी वाली हानियों के प्रति जागरुकता फैलायेंगें। ठियोग पैडल्स के सचिव बालकृष्ण बाली ने बताया कि एसडीएम ठियोग सौरभ जस्सल जो कि स्वयं एक साईकलिस्ट हैं, स्थानीय विधायक राकेश सिंघा, आबकारी एवं कराधान के डिप्टी कमीशनर देव कांति खाची और हिमाचल प्रदेश रणजी टीम के पूर्व कप्तान अरुण वर्मा चंडीगढ़ से आये साईकलिस्टों को मैडल्स देकर सम्मानित करेंगें।
11 वर्षीय तन्मय रावत आर्कषण का केन्द्र
इस सहासिक अभियान में साईकल रैली के बीच 11 वर्षीय तन्मय रावत आर्कषण का केन्द्र है जो पूरी तरह आश्वस्त है कि वे इस रैली को पूरा कर सकेगा। लाॅकडाऊन में अपने अभिभावकों के साथ तन्मय ने खूब साईकल चलाई जिसके परिणामस्वरुप अब साईकलिंग उनकी दिनचर्या का हिस्सा है। पिछले एक साल में तन्मय ने अपने पिता सुदीप रावत के साथ कसौली,  मोरनी, अंबाला, पटियाला, सहित कई माउंटेन हिल्स डेस्टीनेशंस तक जाकर साईकलिंग स्किल्स को पैना किया है।
तन्मय ने बताया कि साईकलिंग से सबसे बड़ा फायदा उन्हें विडियो गेम्स और टीवी के प्रति पैदा हो रहे लगाव पर अंकुश लगाया है। साईकलिंग के प्रति बढ़ती दिलचस्पी से वे ऐसे कई ओर अभियान का हिस्सा बनना चाहते हैं। तन्मय ने बताया कि वे इतनी प्रेक्टिस करना चाहते हैं कि जिससे की अगामी गर्मियों में वे अपने पिता के साथ लगभग 1500 किलोमीटर वाले मनाली - लेह-श्रीनगर सर्किट साईकल पर कवर कर सकें। 

 

 
Have something to say? Post your comment
More National News
रोहतक: महामारी का खतरा टालने को तैमूरपुर गांव को किया सेनिटाइज
गुरुग्राम: मात्र 1 साल के बच्चे की जान की कीमत 16 करोड़ रुपये
गुरुग्राम: भारतीय चित्तीदार बाज की घटती संख्या चिंता का कारण: प्रो. राम सिंह
जब आस्ट्रेलिया में बरसे हरियाणवी कोरड़े...
तीन साल में देश के सभी मंडलों में चलेंगे संघ के कार्यक्रम:ठाकुर
हरियाणा में खप्त के साथ-साथ बढ़ गया दूध उत्पादन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तुरंत दे इस्तीफा:विज
हरियाणा बोर्ड पहली व दूसरी कक्षा की होगी आफ लाइन परीक्षा
हरियाणा में अलग प्रबंधक कमेटी की जरूरत नहीं:जगीर कौर
कोरोना नियंत्रण को ‘टेस्ट, ट्रैक एंड ट्रीट’ रणनीति को अपनाएं : मनोहर लाल